ईरान की 20 फीसदी तक यूरेनियम संवद्र्धन की तैयारी

ईरान की 20 फीसदी तक यूरेनियम संवद्र्धन की तैयारी

दुनिया में एटमी मामलों पर निगाह रखने वाली संयुक्त राष्ट्र की संस्था विश्व परमाणु ऊर्जा निकाय (आईएईए) ने कहा है कि ईरान परमाणु संवद्र्धन को 20 फीसदी तक बढ़ाने जा रहा है। वैश्विक निरीक्षकों के मुताबिक ईरान ने अपने परमाणु कार्यक्रम को हथियार-ग्रेड के स्तर से आगे बढ़ाते हुए अपनी भूमिगत फोर्डो एटमी इकाई में 20 प्रतिशत तक परमाणु शुद्धता की योजना बनाई है। इसे ईरान के अंतरराष्ट्रीय परमाणु समझौते का अब तक का सबसे बड़ा उल्लंघन माना जा रहा है क्योंकि 2015 में हुई एटमी डील में ईरान सिर्फ 4 फीसदी शुद्धता तक ही यूरेनियम का संवद्र्धन कर सकता है। जबकि अमेरिका द्वारा 2018 में खुद को इस डील से बाहर करते हुए ईरान पर लगाए सख्त प्रतिबंधों की वजह से ईरानी नेताओं ने इस समझौते का उल्लंघन शुरू कर दिया था। आईएईए ने स्वीकार किया कि ईरान ने शुक्रवार रात इस बारे में जानकारी लीक होने के बाद अपने निरीक्षकों को इस फैसले से अवगत कराया। यह कदम अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के अंतिम दिनों में ईरान-अमेरिकी तनाव के बीच उठाया गया है। ईरान ने आईएईए को सूचित किया है कि हाल ही में संसद में पारित कानून का पालन करने के लिए वह फोर्डो ईंधन संवद्र्धन संयंत्र में 20 फीसदी तक यूरेनियम संवद्र्धन करना चाहता है।