कोलेस्ट्रोल के मरीज हैं और डायबिटिज का है खतरा तो आपके लिए है बेहद मुफीद

कोलेस्ट्रोल के मरीज हैं और डायबिटिज का है खतरा तो आपके लिए है बेहद मुफीद

ब्लैक टी जिसे कहवा भी कहा जाता है, दुनिया भर में मशहूर है. दक्षिण एशियाई मुल्कों में ब्लैक टी में दूध मिलाकर बड़े शौक से पीने का चलन है. ब्लैक टी को हासिल करने के लिए एक विशेष पौधे (Camellia Sinensis) के पत्तों और कलियों को अलग प्रक्रिया से गुजारा जाता है. अगर आप समझते हैं कि कई तरह की चाय अलग-अलग पौधों से हासिल की जाती है तब ये सोच गलत है. चाय ग्रीन हो या ब्लैक एक ही पौधे से हासिल की जाती है. ग्रीन टी के फायदे आपने बहुत पढ़े-सुने होंगे मगर आज जान लीजिए ब्लैक टी के गुण.

 

ब्लैक टी स्वास्थ्य पर बहुत अच्छा असर डालता है. ये एंटी ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है. एंटी ऑक्सीडेंट्स शरीर से कोशिका की सतह पर टूट फूट, फ्री रेडीकल्स का स्त्राव और DNA में होनेवाले बिगाड़ को रोकते हैं. साथ ही ये स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव डालनेवाले कोशिकाओं को दूर करने का कारण बनते हैं. इस तरह शरीर में क्रोनिक बीमारियों का खतरा कम करने में मददगार साबित होता है.

 

हानिकारक कोलेस्ट्रोल के स्तर में कमी- शरीर में हानिकारक कोलेस्ट्रोल (LDL) की मात्रा 100 होनी चाहिए जबकि लाभदायक कोलेस्ट्रोल (HDL) की मात्रा 60 को ठीक माना गया है. शोध से पता चला है कि रोजाना ब्लैक टी का इस्तेमाल खून में LDL की मात्रा को कम करने का कारण बनता है.

 

डायबिटिज के खतरे में कमी- डायबिटिज एक मेटाबोलिक रोग है जिससे निजात के लिए ब्लैक टी में पाया जानेवाला एक्टिव कंपाउंड बहुत मुफीद साबित होता है. विशेषज्ञ रोजाना 2-3 कप ब्लैक टी इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं. उनका मानना है कि पाबंदी से ब्लैक टी पीना डायबिटिज के खतरे को 42 फीसद कम कर देता है.