चैंपियन्स लीग-1 के सत्र पर रद्द होने का खतरा मंडराया

चैंपियन्स लीग-1 के सत्र पर रद्द होने का खतरा मंडराया

कोरोना वायरस महामारी के कारण खेल प्रतियोगिताओं का रद्द होना लगातार जारी है। फ्रांस सरकार ने सितंबर तक पेशेवर फुटबॉल पर पाबंदी लगा दी है। इसके कारण चैंपियन्स लीग 1 सत्र के रद्द होने की संभावना बन गई है। बता दें कि इससे पहले भी फुटबॉल की कुछ लीग रद्द की जा चुकी है। हालांकि, पेरिस सेंट जर्मेन (पीएसजी) क्लब ने विदेश में खेलने पर सहमति जताई है।
पीएसजी के अध्यक्ष नासिर अल खलीफी ने कहा कि अगर फ्रांस में कोरोना वायरस को लेकर नए दिशा-निर्देशों के कारण उनकी टीम चैंपियन्स लीग के मैच स्वदेश में नहीं खेल पाती है तो वह इन मैचों को विदेश में खेलने के लिए तैयार है। फ्रांसीसी प्रधानमंत्री एडवर्ड फिलिप ने कहा था कि सितंबर तक पेशेवर फुटबॉल की शुरुआत नहीं हो सकती। इसके बाद पीएसजी के अध्यक्ष ने यह घोषणा की।
कहीं भी खेलने को तैयार
खलीफी ने कहा कि हम फ्रांस सरकार के निर्णय का सम्मान करते हैं। यूरोपीय फुटबॉल संघ (यूएफा) के साथ करार को देखते हुए हम कहीं भी और किसी भी समय चैंपियन्स लीग में खेलने के लिए तैयार हैं। हम अपने खिलाडिय़ों और सहयोगी स्टाफ को सर्वश्रेष्ठ चिकित्सा सुरक्षा स्थिति सुनिश्चित करने के बाद कहीं भी खेलने को तैयार हैं।