दुनिया भर में कोरोना मरीजों की संख्या 52 लाख के पास, ब्राजील में बेहद तेजी से बढ़ रहे मरीज

दुनिया भर में कोरोना मरीजों की संख्या 52 लाख के पास, ब्राजील में बेहद तेजी से बढ़ रहे मरीज

कोरोना वायरस का प्रकोप दुनियाभर में लगातार बढ़ रहा है. दुनिया के 213 देशों में पिछले 24 घंटे में 105,766 नए कोरोना के मामले सामने आए और मरने वाले लोगों की संख्या में 4,833 का इजाफा हो गया. वर्ल्डोमीटर के मुताबिक, दुनियाभर में अब तक करीब 52 लाख लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. इनमें से 3 लाख 34 हजार 072 लोगों की मौत भी हो चुकी है. वहीं 20 लाख 78 हजार 536 लोग संक्रमण मुक्त भी हुए हैं. दुनिया के करीब 75 फीसदी कोरोना के मामले सिर्फ 12 देशों से आए हैं. इन देशों में कोरोना पीड़ितों की संख्या 39 लाख है.

 

दुनिया में कहां कितने केस, कितनी मौतें
दुनियाभर के कुल मामलों में से करीब एक तिहाई मामले अमेरिका में सामने आए हैं और करीब एक तिहाई मौतें भी अमेरिका में हुई हैं. अमेरिका के बाद यूके में कोरोना ने सबसे ज्यादा कहर बरपाया है. जहां 36,042 लोगों की मौतों के साथ कुल 250,908 लोग वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. जबकि यूके में मरीजों की संख्या रूस, स्पेन और ब्राजील से कम है. इसके बाद इटली, फ्रांस, जर्मनी, टर्की, ईरान, भारत जैसे देश सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं.

  • अमेरिका: केस- 1,620,457, मौतें- 96,295
  • रूस: केस- 317,554, मौतें- 3,099
  • ब्राजील: केस- 310,087, मौतें- 20,047
  • स्पेन: केस- 280,117, मौतें- 27,940
  • यूके: केस- 250,908, मौतें- 36,042
  • इटली: केस- 228,006, मौतें- 32,486
  • फ्रांस: केस- 181,826, मौतें- 28,215
  • जर्मनी: केस- 179,021, मौतें- 8,309
  • टर्की: केस- 153,548, मौतें- 4,249
  • ईरान: केस- 129,341, मौतें- 7,249

12 देशों में एक लाख से ज्यादा केस
रूस, ब्राजील, स्पेन, यूके, इटली में कोरोना मामलों की संख्या दो लाख पार हो चुकी है. इनके अलावा छह देश ऐसे हैं जहां एक लाख से ज्यादा कोरोना केस हैं. अमेरिका समेत इन 12 देशों में कुल 39 लाख केस हैं. अमेरिका के अलावा रूस और ब्राजील में भी कोरोना केस तेजी से बढ़ रहे हैं. पांच देश (अमेरिका, स्पेन, इटली, फ्रांस, ब्रिटेन) ऐसे हैं, जहां 25 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. अमेरिका में मौतों का आंकड़ा 96 हजार पार कर गया है. चीन टॉप-10 संक्रमित देशों की लिस्ट से बाहर हो चुका है. वहीं भारत टॉप-10 देशों में शामिल होने के करीब है.