पीएम मोदी ने किया एक हजार करोड़ के पैकेज का एलान किया, कहा- दुख की घड़ी में केंद्र साथ

पीएम मोदी ने किया एक हजार करोड़ के पैकेज का एलान किया, कहा- दुख की घड़ी में केंद्र साथ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल में उम्पुन तूफान से हुए नुकसान का जायजा लिया. एयरफोर्स के हेलिकॉप्टर से पीएम मोदी ने प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया. उनके साथ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्यपाल जगदीप धनकड़ भी मौजूद थे. इसके बाद पीएम मोदी, ममता बनर्जी के साथ बशीरहाट पहुंचे जहां समीक्षा बैठक की.

 

समीक्षा बैठक के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंगाल के लिए एक हजार करोड़ रुपये के पैकेज का एलान किया. इसके साथ ही चक्रवात में जान गंवाने वालों के परिजनों को दो लाख रुपये और घायलों को 50 हजार रुपये मुआवजा देने का एलान किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि दुख की इस घड़ी में केंद्र सरकार पश्चिम बंगाल के साथ है.

 

प्रधानमंत्री ने कहा, ''एक साल पहले भी साइक्लोन आया था. उस समय सबसे बड़ा नुकसान ओडिशा को हुआ था. आज एक साल बाद फिर से साइक्लोन ने फिर से भारत के पूर्वी क्षेत्र को प्रभावित किया है. सबसे ज्यादा असर पश्चिम बंगाल पर पड़ा है. मेरी संवेदना उन सभी के साथ हैं जिन्होंने चक्रवात के कारण अपनी जान गंवाई है. लोगों को हर संभव मदद प्रदान करने के लिए केंद्र और राज्य मिलकर काम कर रहे हैं. गवर्नर और सीएम के साथ, एक हवाई सर्वेक्षण किया, उन्होंने मौजूदा स्थिति पर भी मुझे जानकारी दी है.''

 

उन्होंने कहा, ''पुनर्वास, पुनर्निर्माण से संबंधित सभी पहलुओं पर ध्यान दिया जाएगा. हम सभी चाहते हैं कि पश्चिम बंगाल आगे बढ़े. इन परीक्षण समयों में केंद्र हमेशा पश्चिम बंगाल के साथ खड़ा रहेगा. इन विरोधाभासों के बावजूद, पश्चिम बंगाल अच्छी तरह से लड़ रहा है. हम इन प्रतिकूल समय में पश्चिम बंगाल के साथ हैं.''

 

हम एक ओर महामारी से जूझ रहे हैं और कुछ हिस्सों में चक्रवात की स्थिति है. महामारी से निपटने के लिए सामाजिक दूरी की आवश्यकता होती है जबकि चक्रवात से जूझने के लिए लोगों को सुरक्षित क्षेत्रों में जाना पड़ता है. उम्मीद है कि बंगाल इस परिस्थिति से बाहर निकल कर एक बार फिर से खड़ा होगा.''

 

बता दें कि इस भयानक चक्रवात में 80 से ज्यादा लोगों की जान चली गयी. देशभर में जारी लॉकडाउन के बीच प्रधानमंत्री आज 83 दिन के बाद राजधानी दिल्ली से बाहर दौरे के लिए निकले. पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बैनर्जी ने पीएम मोदी से प्रभावित जिलों का दौरा करने और तबाह हो गए इलाकों के पुनर्निर्माण के लिए सहायता देने का आग्रह किया था.

 

तूफान ने मचाई तबाही
तूफान से कई पुलों और इमारतों को भी काफी नुकसान पहुंचा है. तूफान के कारण ओडिशा के कई तटीय जिलों में बिजली एवं दूरसंचार सुविधाओं को नुकसान पहुंचा है. ओडिशा के अधिकारियों के आंकलन के अनुसार, चक्रवात से लगभग 44.8 लाख लोग प्रभावित हुए हैं.

 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करने के बाद कहा, ''अब तक हमें मिली खबरों के अनुसार, चक्रवात 'उम्पुन' के चलते 82 लोगों की मौत हुई है. दो जिले-उत्तर और दक्षिण 24 परगना पूरी तरह तबाह हो गए हैं. हमें उन जिलों का पुनर्निर्माण करना होगा. मैं केंद्र सरकार से आग्रह करूंगी कि वह राज्य को सभी सहायता उपलब्ध कराए.''