पैरों की मालिश तिल के तेल से करने के जबरदस्त फायदे

पैरों की मालिश तिल के तेल से करने के जबरदस्त फायदे

चेहरे के साथ पैरों को भी अच्छी देखभाल की जरूरत होती है। कई बार ऐसा होता है कि सुबह उठने पर पैरों में काफी दर्द महसूस होता है। आज की बिजी जिंदगी में पैरों की देखभाल पर ध्यान देने का समय नहीं मिलता है। लेकिन अगर आप रात को सोने से पहले पैरो में तिल के तेल की मालिश करेंगे तो ये पैरों के साथ ही आपके शरीर को भी काफी फायदा देगा। तिल का तेल दर्द को कम करने में काफी मददगार है। अगर इस आयुर्वेदिक तेल का फायदा चाहतें हैं तो पैरों पर मालिश करने का सही तरीका भी जान लें…

मालिश करने का तरीका

– रात को सोने से पहले पैरों को अच्छी तरह से साफ करें।

– इसके बाद पैरों को सामने की तरफ फैलाकर पर बैठें।

– अब तिल के तेल को गर्म करके उसकी कुछ बूंदें लेकर पैरों पर इसकी मालिश करें।

– मालिश करते समय हाथों पर थोड़ा प्रेशर बनाए रखें।

– पैरों के तलवों, पंजों पर अच्छे से तेल की मालिश करें।

– इसके बाद पैर के अंगूठे को धीरे-धीरे दबाते रहें।

– लगभग 5 से10 मिनट तक पैरोंं की मालिश करें।

– अगर पैर पर ज्यादा तेल लग गया है तो तौलिये की मदद से साफ कर कते हैं।

मालिश करने के फायदे
– रोजाना रात को सोने से पहले पैरों की मालिश करने से नर्वस सिस्टम शांत है जो तनाव कम करने में मदद करता है।

– इससे नींद भी अच्छी आती है।

– तिल के तेल की मालिश डाइजेशन को सही रखता है।

– इसके अलावा यह ब्‍लड सर्कुलेशन ठीक रखता है।

– ये तेल फटी एड़ियों की समस्‍या को भी दूर करता है।

– पैरों में आई सूजन को दूर कर पैरों में स्‍ट्रेच या दर्द से राहत दिलाता है।

इसके अलावा भी बेहद काम का है तिल का तेल

दांत रखे स्वस्थ 
तिल के तेल का इस्तेमाल करने से मुंह के सारे कीटाणु खत्म हो जाते हैं, इससे दांतों का पीलापन भी दूर हो जाता है। इसके एंटी-बैक्टीरियल गुण मसूढ़ों को भी स्वस्थ रखते हैं। मुंह में होने वाले छालों पर तिल के तेल में सेंधा नमक मिलाकर लगाएं।

दिल को रखे स्वस्थ
दिल से संबंधित रोगों का बचाव करने में और कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल में भी तिल का तेल काफी फायदेमंद है।

बालों बनाए मजबूत
तिल के तेल को थोड़ा सा गर्म करके बालों की जड़ों पर मसाज करें। इसके 1 घंटे बाद बालों को धो लें। इसके इस्तेमाल से बालों का झड़ना बंद हो जाएगा और बाल मजबूत बनेंगे।

त्वचा के लिए फायदेमंद
तिल का तेल त्वचा में नमी बनाए रखता है। जिससे चेहरे पर झुर्रियां नहीं पड़ती और इसके साथ ही स्किन में कसावट भी आती है।