ब्लड सर्कुलेशन का पता लगाने के लिए इन बातों पर दें जरूर ध्यान

ब्लड सर्कुलेशन का पता लगाने के लिए इन बातों पर दें जरूर ध्यान

शरीर को सुचारू रूप से चलाने के लिए सही और हेल्दी ब्लड सर्कुलेशन का होना बेहद आवश्यक होता है. आपका शरीर हजारों रक्त कोशिकाओं से बना होता है, जो सर्कुलेटरी सिस्टम का निर्माण करने में सहायक होती हैं. शरीर का यही सर्कुलेटरी सिस्टम खून, ऑक्सीजन और अन्य पोषक तत्वों को शरीर के सभी अंगों तक पहुंचाने का काम करता है. खराब ब्लड सर्कुलेशन के कुछ कारणों में  मधुमेह, रक्त के थक्के, अधिक वजन होना, रेनॉड से जुड़ी बीमारियां, हाई ब्लड प्रेशर, तथा खराब जीवन शैली शामिल होती हैं, तो आइए आज हम आपको बताते हैं कि आप अपने शरीर में होने वाले खराब ब्लड सर्कुलेशन के लक्षणों को कैसे पहचान सकते हैं.

खराब ब्लड सर्कुलेशन के आम लक्षण-
 

 

 हाथ-पैरों में सुन्नपन महसूस होना
बॉडी का ब्लड सर्कुलेशन बिगड़ने पर खून का प्रवाह ठीक से नहीं हो पाता, जिसके के चलते हाथ-पैर और बॉडी के अन्य अंगों में सुन्नपन जैसा महसूस होने लगता है.


 

हाथ-पैरो का ठंडा पड़ जाना
खराब ब्लड सर्कुलेशन के कारण आपको हाथ और पैर में ठंडापन महसूस होने लगता है. ऐसा तब होता है, जब दिल से दूर रहने वाले अंगों को पर्याप्त रक्त नहीं मिल पाता है. इसी के कारण आपके हाथ-पैर ठंडे हो जाते हैं.भूख न लगना की समस्या
पाचन तंत्र को हेल्दी रखने के लिए आपके शरीर को पर्याप्त खून की आवश्यकता होती है. खराब ब्लड सर्कुलेशन से भूख कम लगती है और मेटाबालिक भी कम होता चला जाता है.

याददाश्त में कमी आ जाना
खराब ब्लड सर्कुलेशन की वजह से किसी भी इंसान की याददाश्त कमजोर हो सकती है. इसलिए जब आप छोटी-छोटी चीजें भी भूल जाते हैं, तो समझ लेना चाहिए कि आपका ब्लड सर्कुलेशन ठीक नहीं है.

कब्ज की परेशानी रहना
आपके शरीर में सही ब्लड सर्कुलेशन कमी के कारण पाचन संबंधी परेशानियां जैसे दस्त, पेट में दर्द, कब्ज आदि हो सकती हैं. ऐसे में आपको अपने ब्लड सर्कुलेशन पर ध्यान देने की जरूरत होती है.

हर समय सुस्ती महसूस होना
अगर आप खुद को हमेशा थका हुआ महसूस करते हैं तो यह भी खराब ब्लड सर्कुलेशन का संकेत हो सकता है क्योंकि जब आपके अंगों और मांसपेशियों में पर्याप्त ऑक्सीजन और पोषक तत्वों की आपूर्ति नहीं होती है, ऐसे में आप खुद को थका हुआ महसूस करते हैं.

इम्यून सिस्टम कमजोर होना
अगर आप ज्यादातर बिमार पड़ते रहते हैं, तो यह खराब ब्लड सर्कुलेशन का संकेत हो सकता है. जब सर्कुलेटरी सिस्टम में खराबी होती है, तो यह बीमारियों से लड़ने में समर्थ नहीं हो पाता है और आपका इम्यून सिस्टम वीक हो जाता है.