व्यवसायों को सामान्य करने में लगेगा एक साल

व्यवसायों को सामान्य करने में लगेगा एक साल

लॉकडाउन के कारण कंपनियों का दीवाला निकल चुका है और राजस्व में 25 प्रतिशत से अधिक की गिरावट आ चुकी है और व्यवसायों को सामान्य स्थिति में लौटने में अब एक साल से अधिक का समय लग सकता है। एक सर्वेक्षण में यह कहा गया है। सर्वेक्षण में शामिल शीर्ष कॉर्पोरेट अधिकारियों, व्यवसाय मालिकों और संस्थापकों में से लगभग 67 प्रतिशत ने कहा कि कंपनियों के राजस्व में लॉकडाउन के दौरान पहले से 25 प्रतिशत से अधिक की गिरावट आ चुकी है। इसके अलावा, सभी उत्तरदाताओं का मानना है कि व्यापार 2021 तक ही सामान्य रूप में वापस आ सकेगा, जबकि 22 प्रतिशत लोगों का मानना है कि व्यापार जगत में सामान्य स्थिति के लौटने में लॉकडाउन समाप्त होने के बाद एक साल से अधिक समय लग सकता है।
इसी माह किया गया सर्वे
स्क्रिपबॉक्स ने एक मई से 15 मई 2020 के बीच यह ऑनलाइन सर्वेक्षण किया। सर्वेक्षण में कॉर्पोरेट जगत के करीब 1,200 लोगों ने भाग लिया। इनमें से 54 प्रतिशत बड़ी कंपनियों में काम करने वाले लोग, 32 प्रतिशत छोटे और मध्यम आकार के उद्यमों (एसएमई) में काम करने वाले और 14 प्रतिशत स्टार्टअप्स में काम करने वाले लोग हैं। सर्वेक्षण में पता चला कि कंपनियों के राजस्व में गिरावट के साथ ही रोजगार का भी नुकसान हुआ है। करीब 90 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने माना कि नौकरियों में 25 प्रतिशत से कम कटौती हुई है, जबकि शेष 10 प्रतिशत ने कहा कि उनकी कंपनी में 25 प्रतिशत से अधिक लोगों की छंटनी हुई है।