सामान खरीददते वक्त आप भी पहनते हैं ग्लव्ज़, तो याद रखें ये बातें

सामान खरीददते वक्त आप भी पहनते हैं ग्लव्ज़, तो याद रखें ये बातें

कोरोना वायरस महामारी की वजह से सभी लोग घरों में बंद रहने को मजबूर हैं। ऐसे में घर का ज़रूरी सामान खरीदना पहले जैसे आसान नहीं रह गया है। एक तो मार्केट में हर चीज़ उपलब्ध नहीं है, और दूसरा सामान खरीदने जाने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ रही है। घर से बाहर क़दम रखने के लिए सबसे ज़रूरी है मास्क और ग्लव्ज़ पहनना। बाज़ार में सभी लोग मास्क लगाए और ग्लव्ज़ पहने दिख जाते हैं। 

सभी लोग इंफेक्शन से बचने के लिए अपने हाथों में रब्बड़ ग्लव्ज़ से लेकर बर्तन धोने के ग्लव्ज़, ऊनी ग्लव्ज़ और यहां तक कि पॉलीथीन बैग्ज़ तक पहन रहे हैं।

लेकिन ग्लव्ज़ से क्या होता है?

जब बात संक्रमण के फैलने की हो, तो ग्लव्ज़ हमारी त्वचा जैसा ही काम करते हैं। ग्लव्ज़ बिल्कुल हमारी त्वचा जैसे होते हैं। अगर आप ग्लव्ज़ पहनकर ऐसी सतह को छूते हैं जो संक्रमित है, और फिर उन्हीं हाथों से अपना चेहरा छू लेते हैं, तो ये उतना ही ख़तरनाक है जितना बिना ग्लव्ज़ के रहना। यहां तक कि ग्लव्ज़ और ज़्यादा हानिकारक होते हैं क्योंकि वायरस हर सतह पर अलग तरह से रिएक्ट करता है। ऐसा हो सकता है कि कोरोना वायरस आपके हाथों से ज़्यादा लैटेक्ट ग्लव्ज़ पर चिपकता है।

 

ग्लव्ज़ पहनकर ये न समझें कि आप सुरक्षित हैं

ग्लव्ज़ पहनने का मतलब ये नहीं है कि आपको हाथ धोने की ज़रूरत नहीं है। उनके एक जगह से दूसरी जगह पहनने से भी वायरस फैलता है। वहीं, अगर आपने  ग्लव्ज़ नहीं पहने हैं तो सिर्फ आपको हाथ साबुन या सैनिटाइज़र से साफ करने हैं।  

ग्लव्ज़ को सही तरीके से उतारना ज़रूरी है

अगर आप अपने ग्लव्ज़ को सही तरीके से नहीं उतारते हैं, तो आप सिर्फ वायरस को फैला रहे हैं। यहां तक कि ट्रेनिंग के बावजूद 30 प्रतिशत मेडिकल कर्मी भी अपने ग्लव्ज़ सही तरीके से नहीं उतारते हैं।

 

ग्लव्ज़ को उतारने का सही तरीका

आपको कलाई से ग्लव को उतारना शुरू करना चाहिए, ताकि जब वह पूरी तरह से निकलें तो उलटे हों। उतारे गए ग्लव को ग्लव वाले हाथों से ही पकड़ें और आराम से दूसरे ग्लव में हाथ घुसाकर उसे भी उल्टा उतारें। उसके बाद उन्हें डस्टबिन में फेंक दें क्योंकि ऐसा न करने पर आप सतह को भी संक्रमित कर देंगे।  

ज़रूरी बात

चाहे आपने ग्लव्ज़ सही तरीके से क्यों न उतारा हो, उसे उतारने के बाद अपने हाथों को धोना न भूलें। सामान खरीदने के वक्त ग्लव्ज़ पहनने में कोई बुराई नहीं है, लेकिन साथ ही हाथ धोना भी ज़रूरी है। ग्लव्ज़ को इस्तेमाल करने के बाद डस्टबिन में फेंकना न भूलें।