1 मार्च को शुरू होगी स्पेक्ट्रम की नीलामी

1 मार्च को शुरू होगी स्पेक्ट्रम की नीलामी

सरकार ने टेलीकॉम कंपनियों के लिए स्पेक्ट्रम नीलामी की तारीख तय कर दी है। यह 1 मार्च को शुरू होगी। इसमें 5जी स्पेक्ट्रम को शामिल नहीं किया गया है। इससे पहले पांच बार स्पेक्ट्रम नीलामी हो चुकी है। आखिरी नीलामी चार साल पहले हुई थी। कंपनियों की शिकायत रहती है कि कम स्पेक्ट्रम के कारण वे ग्राहकों को अच्छी सर्विस नहीं दे पाती हैं। ज्यादा स्पेक्ट्रम मिलने से सर्विस क्वालिटी सुधरने की उम्मीद है। नीलामी 700, 800, 900, 1800, 2100, 2300 और 2500 मेगाहट्र्ज फ्रीक्वेंसी वाले स्पेक्ट्रम की होगी। टेलीकॉम रेगुलेटर ट्राई ने दो साल पहले इनकी बेस प्राइस यानी कम से कम कीमत तय की थी। 700 मेगाहट्र्ज वाला स्पेक्ट्रम सबसे महंगा है। कोई कंपनी पूरे देश के लिए इसे खरीदती है तो उसे बेस प्राइस पर 32,905 करोड़ रुपए देने पड़ेंगे। इसे प्रीमियम स्पेक्ट्रम माना जाता है। इसके सिग्नल 2100 मेगाहट्र्ज वाले सिग्नल की तुलना में तीन गुना ज्यादा दूर तक जाते हैं।